संजीवनी शक्ति उपचार- सुख, समृद्धि, सुरक्षा का वरदान- 1

चैप्टर 1

संजीवनी शक्ति उपचार- सुख, समृद्धि, सुरक्षा का वरदान
संस्थापक एवं लेखक- एनर्जी गुरू राकेश आचार्या


11415308_851368688288222_6981723163569012286_n.jpg
कई बार तमाम योग्यताओं, क्षमताओं के बावजूद हमें वे नतीजे नहीं मिलते जिनके हम हकदार हैं, क्यों?
हमारे संतुलित व्यवहार, मीठी वाणी और सरलता के बावजूद कई बार रिश्ते बिगड़ ही जाते हैं, क्यों?
दूसरों का हित करने पर भी कई बार बुराईयां ही हिस्से में आती हैं क्यों?
अथक मेहनत, बेदाग ईमानदारी और जुझारूपन भी कई बार वे सफलताएं नही दिला पाता जिनके हम हकदार हैं, क्यों?
हर पल पाजिटिव रहने के संकल्प के बावजूद कई बार हम नकारात्मकता से घिर जाते हैं, क्यों?
दूसरों से कई गुना काबिल होने के बावजूद कई बार हम उनसे पिछड़ जाते हैं, क्यों?
राष्ट्रभक्ति और अविचलित कर्मयोग के बावजूद कई बार मान, सम्मान, यश कीर्ति नहीं मिलती, क्यों?
अच्छे से अच्छे इलाज के बावजूद कई वार स्वास्थ नहीं सुधरता, क्यों?
पूरी आस्था, अटूट भक्ति और संदेहरहित समर्पण के बावजूद कई वार भगवत् कृपा प्राप्ति नही पो पाती, क्यों?


इन जैसे और भी तमाम सवाल हैं जिनका सामना हमें हर दिन करना पड़ता है। इनका जवाब पाने के लिए हमें जीवन चलाने वाली दैवीय शक्ति संजीवनी से परिचित होना होगा।
इसके पास हमारे जीवन के पल पल का हिसाब है। यही शक्ति हमारे आभामंडल और उर्जा चक्रों का संचालन करती है। सजीवनी शक्ति बगड़ने पर आभामंडल और उर्जा चक्र ठीक से काम नहीं कर पाते।
इसी कारण असफलताओं, बीमारियों, बदनामी, गुस्सा, अहंकार, आर्थिक संकट, दुर्घटनाओं, मुसीबतों और दुखों का सामना करना पड़ता है।
आप जानकर चकित हो जाएंगे कि सर्दी जुकाम, कील, मुहासे, फुंसी से लेकर कैंसर, एड्स तक सभी रोग संजीवनी शक्ति बिगड़ने से ही पैदा होते हैं। इसको ठीक करके रोगों को भी ठीक किया जा सकता है।
इसी तरह पढ़ाई में मन न लगना, शादी व्याह में देरी से लेकर कर्ज, कलह, विवादों और समस्त प्रकार की रुकावटों के पीछे भी संजीवनी शक्ति बिगड़ने का ही कारण होता है। इसको ठीक करने से ये परेशानियां भी खत्म हो जाती हैं।
संजीवनी उपचार में मै आपको संजीवनी शक्ति को ठीक करके अपने व दूसरों के जीवन को संवारना सिखाउंगा।

आपका जीवन सुखी हो, यही हमारी कामना है.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s