Author Archive: Mrityunjay Team

23 jan 22 Online workshop

13 PM


दिव्य, अद्भुत, अद्वितीय शिव ज्ञान: जैसे सम्पूर्ण ब्रह्मांडीय शक्तियां धरा पर उतर आईं
– सुभाष कन्हैयालाल जैन, मुम्बई।
+91 85910 80321
जिंदगी‌ मे इतना अद्भुत ,अव्दीतीय ,अतुलनीय व दिव्य
ज्ञान‌ पहली बार मिला। लगता है सम्पुर्ण ब्रहमांडीय शक्तियां‌ धरा पे उतर आई है।
गुरूदेव नें तो सभी का जीवन सफलता व शक्ति से परिपुर्ण कर दिया।
यूं लगता है कि श्री आदिनाथ शिव जी नें‌ आत्मज्ञान , शक्तिपात ज्ञान ,शिव कृपा बरसाने व लोगों को‌ तकलीफों से मुक्ति हेतु सहज ज्ञान मार्ग दर्शन कराने श्री‌ परमहंस आचार्य राकेश जी को हमारे बीच भेजा है। गुरूजी तो मुझे साक्षात प्रभु शिव‌ ही नजर‌आते हैं।
अखिल विश्व‌ में‌ बिना‌ अग्नि‌ के ऊर्जा यज्ञ का कराने का आविष्कार श्री आचार्य जी‌ ने ही‌ किया है।
आने वाले युगों युगों‌ तक इनकि गाथा गाई जायेगी।ये अपने गुरूदेव श्री राकेश जी व कार्यशाला तारणहार‌ हैं।ब्रहमांडीय कनेक्टीविटी‌ का दिव्य व अद्भुत ज्ञान हिन्दू पद्धती से सिर्फ और सिर्फ यहीं‌ प्राप्त है।


ऐसा लग रहा था किसी और युग में आ गए
– Surendra Kumar Yadav Surat
Ram Ram guruji, Aaj ke divya Gyan me Aisa laga raha tha jaise kisi Aur yug me Aa gaye hai
iesa kalayug me sambhav nahi guru bhagawan Ki kripa Aap Ki kripa se prapt hua guru bhagwan Aaur Aap ko koti koti dhanywad


अब जीवन का कायाकल्प होना निश्चित हुआ
– अरविंद
राम राम गुरुजी
आज की वर्कशॉप से जीवन की दिशा को नया आयाम मिला
अब ज़िन्दगी का कायाकल्प होना निश्चित हुआ
साथ अपने से जुड़े लोगों का भी कल्याण होगा ।।।
आपका और गुरु भगवान शिव जी का धन्यवाद


हर क्षण दिव्यता का अहसास
– निधि गुप्ता
कोटि कोटि नमन v वंदन गुरु जी ji 🙏 🌹🌺
आज की workshop अद्वितीय थी गुरु जी. इस का एक एक क्षण बहुत कुछ प्रदान कर रहा था अहो भाग्य हम सब के कि आप हमें गुरु रूप में मिले. परम शिव का कोटि कोटि धन्यावाद कि आपको गुरु रूप में दिया v अपने साकार रूप का अह्सास करवाया .हर पल har क्षण दिव्यता का एहसास हो रहा था इन्द्रियां to बिल्कुल शिथिल थी कुछ लिखू या सोचूँ या कोई प्रश्न ऐसा था ही नहीं. बस शून्य sa था सब कुछ एनर्जी flow को ही महसूस कर मन अभिभूत था. ग्रहों की ऊर्जाओं की स्थापना वास्तु ठीक करने के लिए ऊर्जाओं ki स्थापन मंत्रों के जाप उनके अनुसंधान ke बाद की feeling सब कुछ बहुत ही आनंद की अनुभूति हो रही है .प्रदोष काल में प्रदोष मंत्र का अनुसंधान.
बहुत-बहुत धन्यवाद गुरु जी 🌹 🙏🏻
आपका स्नेहपूर्ण आशीर्वाद सदा सर्वदा बनाए रखिए गुरु जी 🌹 🙏🏻


जो मिल गया उसकी तो कल्पना भी नही थी
– डॉ ए के मौर्य। पाली 9414122339
प्रणाम प्रभु, चरण वंदन, जैसे ही आज की वर्क शाप का पता चला तुरंत ही मन एक दम प्रफुल्लित होकर आनंद छा गया, जिज्ञासा थी जरूर कुछ नया मिलेगा लेकिन इस के लिए तो कल्पना ही नहीं थी, शायद पूर्व जन्मों के आपके साथ हमारे संस्कार जुड़े थे, मैने पढ़ा है गुरु स्वयं शिष्य ढूंढ लेते है, भगवान शिव ने आपको माध्यम बना कर हमे ढूंढ लिया और आपमें विराजमान होकर अद्भुत ज्ञान भी प्रदान कर दिया क्योंकि आप ही हम सभी को शिव गुरुजी के शरीर में ले जाते है, वहा भी आप ही माध्यम हैं यहां”गुरु गोविंद दोऊ…..”लागू होती है साक्षात ब्रह्मांड का दर्शन आपने कराया , दीदी गुरु मां भी इसमें भागीदार रहे , कुल मिलाकर पूर्ण शिव परिवार की कृपा और आपकी मेहनत का ही फल हमे मिला, ऐसे दिव्य, अलौकिक ज्ञान के लिए कोटिश: वंदन भी कम है, सदैव श्री चरणों में स्थान बना रहे ये ही प्रार्थना है, सभी साधकगण को भी नमन, शिव ज्ञान, संजीवनी ज्योतिष को प्रणाम, खुशी के आनंद में कुछ सूझ ही नही रहा लग रहा है मानो जन्म जन्मांतर से ऐसा अभूतपूर्व आनंद मिला हैं,पुन:पुन: वंदन।


जो घण्टे में जो सिखा दिया वह वर्षों में नही सीख सकता था
– मनोज कुमार निगम, कालपी, उ प्र
राम राम गुरु जी,। आज जो आपने ज्ञान दिया वह अकल्पनीय है अलौकिक है मैं इसे पूरे मन से आत्मसात करूंगा । अभी मेरा मन काफी दिनों से उदास था । आज मन बहुत शांत हो गया है। आज एक अलग ऊर्जा ही महसूस हो रही है। आज आपने सिर्फ दो धंटे में जो सिखा दिया जो शायद मैं वर्षो में नहीं सीख सकता था। शायद मुझ पर भगवान् शिव गुरु की कृपा है। गुरु देव की कृपा हूई तो दूसरे लोगों पर करना भी सीख लूंगा ऐसा मेरा विश्वास है अपने गुरु पर। गुरु देव मैं आपको करोड़ों धन्यवाद भी दूं तो भी कम है। मुझे शिव ज्ञान देने के लिए धन्यवाद। मैं अपना और दूसरों का कल्याण कर सकूं इस हेतु मुझे सक्षम बनाये । आशीर्वाद प्रदान करें । धन्यवाद


अद्भुत विद्या पाकर मन झूम उठा
– पुष्पा ठाकुर, रायपुर।

राम गुरुजी। आज की वर्कशॉप बहुत ही अद्भुत, मिनटो में समस्या से मुक्त होने वाली, अप्रतिम, शब्दो मे बया न कर पाए ऐसी विद्या पाकर मन झूम उठा है।
गुरुवार आज आपके सीखये विधा, ब्रम्हाडिय कनेक्टिविटी का दिव्य ज्ञान, जिस सिद्धि हेतु सालो साल लगता है वह सिद्धि आपने मिनटो में प्रदान किये इसके लिए कोटि कोटि धन्यवाद, आभार। खुशी की लहर दौड़ रही है, ऐसे लग रहा है जैसे पाव धरती पर टिक नहीं रहे हैं।
जिन समस्या का हल पाने में जिंदगी निकल जाती है, वो “”निदान पैकेज”” अपने मिनटो में दे दिए शब्द कम पड़ रहे हैं व्याख्यान के लिए। अनाहत चक्र बड़ा होकर दोगुने हो गया है।
कल रात से कुछ समस्या घर पर आ गई, जिसे रात से सोचती रही हूं कि अचानक आये समस्या से कैसे निकला जाय और आज आपकी और शिवगुरु की कृपा से 24 घंटे से पहले ही समस्या का हल निकाल गया, बहुत बहुत धन्यवाद गुरुजी। अब तो जीवन में आपके दिये ज्ञान और आपके सीखये विद्या के अलावा कुछ अन्य में मन लगता ही नहीं है।


ग्रह-वास्तु-तंत्र-शत्रु-ऋण-रोग-कलह पीड़ा निवारण का अनमोल ज्ञान
– भोलानाथ, दिल्ली।
शिव गुरु को राम-राम गुरु जी को राम राम गुरुदेव आज की क्लास दिव्य ज्ञान देने के लिए आपको अनेकों अनेक धन्यवाद गुरुदेव आपने जब ग्रहों का शक्ति पात करवा रहे थे उस वक्त एक-एक करके सभी ग्रहों की ऊर्जा प्राप्त हो रही थी और पूरे बॉडी में बहुत हल्का पन महसूस हो रहा था और आनंद की अनुभूति हो रही थी वास्तु का उपचार कराया आपने उसमें भी बहुत घर में आनंद की अनुभूति महसूस हो रही थी और तंत्र पीड़ा निवारण प्रत्यंगिरा मंत्र की स्थापना शक्तिपात के द्वारा आपने कराए यह भी बहुत अनमोल ज्ञान प्रदान करने के लिए आपको धन्यवाद शत्रु पीड़ा से मुक्ति दिलाने का ज्ञान देने के लिए आपका धन्यवाद ऋण पीड़ा निवारण शक्ति पात और उसकी ऊर्जा को स्थापित कराने के लिए आपका धन्यवाद दरिद्रता पीड़ा निवारण शक्ति पात की शक्तियों को ऊर्जा चक्र में स्थापित कराने के लिए आपका धन्यवाद कलह पीड़ा निवारण शक्ति पात और उसकी ऊर्जा को ऊर्जा चक्र में स्थापित कराने के लिए आपका धन्यवाद और रोग पीड़ा निवारण शक्ति पात और उसकी ऊर्जा शक्ति को पूजा चक्रों में स्थापित कराने के लिए आपका धन्यवाद यह अमूल्य दिव्य ज्ञान प्रदान करने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यवाद यह ज्ञान प्राप्त करने के लिए साधकों को जाने कितने साल और जाने कितने जन्म निकल जाते हैं और आपने गुरुदेव इसे लगभग 3 घंटे की क्लास में ही सभी को प्रदान कर दिया और इसकी सिद्धियों को सुनिश्चित करने के लिए इसे ब्रह्मांड मैं भगवान शिव के साथ कनेक्टिविटी भी आपने कर दी कि यह सिद्धियां आपके पास सदैव आप के उपयोग में आती रहे यह सभी शिव शिष्य बहुत सौभाग्यशाली हैं जो आप जैसे गुरु का सानिध्य प्राप्त हुआ गुरुदेव आपको अनंत अनंत कोटि धन्यवाद शिव शरण गुरु शरणम


अंदर से दर्द देने वाली ऊर्जा बाहर निकल गई
Niraj Jain delhi
गुरू जी आज की workshop में शामिल करने के लिए बहुत बहुत आभार
गुरू जी आज की class आलौकिक थी हर साधना के बाद शरीर में हल्कापन अंदर से खुशी और आनंद का अनुभव हुआ।
ऐसा लग रहा था जैसे कोई बोझ कोई अंदर से दर्द देने वाली ऊर्जा बाहर निकल गई।
असीम आनंद संतुष्टि और शांति मिल रही है।
गुरू जी हमे अपने शिष्य के रूप में स्वीकार करने के लिए बहुत बहुत शुक्रिया
🙏🙏


अति दुर्लभ खजाना मिल गया
– Niva choudhury
Ram Ram guruji, aaj ki workshop m aisha laga buhut bora khajana oti dorlov jo jindagi bodal dega, aisha anmol gyan shivguru ki kripa se or aap ki kripa se mil goye hum sob k,shivguru or aap k kotti kotti pronam or buhut buhut dhyanwad guruji 🙏🏾🙏🏾


घर बैठे अमूल्य,सरल ज्ञान
– प्रतिमा मुंडा (कोलकाता)
राम राम गुरुजी चरण स्पर्श।  गुरुजी को कोटि-कोटि धन्यवाद। हमे घर बैठे अमूल्य,सरल ज्ञान प्रदान करने के लिए। आप हमें ज्ञान रूपी शस्त्र प्रदान कर स्वावलंबी बना रहे हैं सामर्थ्य वान बना रहे हैं। हम आपके जैसा मार्गदर्शक पाकर धन्य हो गए। शिव गुरु को कोटि-कोटि धन्यवाद।


लाजवाब ,प्रखर ,और बहुआयामी
-नीरजा,नोएडा 
राम राम गुरुजी। आप के लिए तो सारे शब्द ही कम है। आपने आज जब वास्तु का अनुसन्धान किया तो मुझे बहुत ही खुशी हुई क्योंकि आज मैंने सोचा था कि रात की क्लास में लिखूंगी कि गुरुजी हम सभी के माध्यम से घर की ऊर्जा की क्लीनिंग करा दें । शिव गुरु ने पहले ही पूरी करा दी 😃। हर एक अनुसन्धान अपने आप में लाजवाब ,प्रखर ,और बहुआयामी । मुझे तो यह समझ नही आता कि कौन सी क्लास को बोलूं की यह अच्छी थी।
आपने जो आखिर में सभी को सिद्धि की उर्जायें प्रदान करी ,यही विशेष प्रेम आपको अद्भुत बनाती है। आज सुबह ज्ञात अज्ञात से मन वैसे ही प्रसन्न था और शाम तक तो क्लाइमेक्स पर पहुंच गया खुशी के ।
सादर चरणस्पर्श ।


 

%d bloggers like this: