Aura Locking

chakra-man


ब्लैक मैजिक, प्रेत बाधा, गुस्सा-तनाव से बचने के लिये

आभामंडल और मणिपुर चक्र कासुरक्षा कवच बनायें.


आंखें बंद करके आराम से बैठ जायें। कुंडली जागरण रुद्राक्ष धारण कर लें. भगवान शिव से र्प्राना करें, कहें मै आपको साक्षी बनाकर अपने लिये औरिक सुरक्षा कवच का निर्माण कर रहा हूं। इसकी सफलता के लिये मुझे दैवीय सहायता और सुरक्षा प्रदान करें।
मणिपुर चक्र पर एक हाथ रखें। फिर संजीवनी शक्ति से इलेक्टि्रक वायलेट उर्जा के सुरक्षा कवच की मांग करें। कहें- दिव्य व शक्तिशाली उर्जा मेरे द्वारा धारण कुंडली जागरण रुद्राक्ष को माध्यम बनाकर मेरे मणिपुर चक्र को इलेक्टि्रक वायलेट उर्जा का अभेद सुरक्षा कवच प्रदान करें। उसमें मेरी खुशियों के लिये प्रेम व प्रकाश के आने जाने की राह दें। इस कवच को गुस्सा, तनाव, तंत्र, ग्रह, वास्तु, प्रेत बाधा सहित किसी भी तरह की नकारात्मक उर्जायें भेद न सकें। और मुझ पर उनका कोई दुष्प्रभाव न पड़े। मै सुरक्षा कवच में सुखी और सुरक्षित रहूं। ऐसा ही हो, ऐसा ही हो, ऐसा ही हो-तथास्तु। आपका धन्यवाद, भगवान शिव का धन्यवाद, संजीवनी रुद्राक्ष का धन्यवाद, एनर्जी गुरु राकेश आचार्या जी का धन्यवाद। इसी तरह जरूरत के मुताबकि दूसरे चक्रों के कवच भी बना सकते हैं।
आभामंडल के औरिक सुरक्षा कवच की विधि ….
भगवान शिव से र्प्राना करें, कहें मै आपको साक्षी बनाकर अपने लिये औरिक सुरक्षा कवच का निर्माण कर रहा हूं। इसकी सफलता के लिये मुझे दैवीय सहायता और सुरक्षा प्रदान करें।
आंखे बंद करके आराम से बैठ जायें। संजीवनी शक्ति से इलेक्टि्रक वायलेट उर्जा के सुरक्षा कवच की मांग करें। कहें- दिव्य व शक्तिशाली उर्जा मेरे द्वारा धारण कुंडली जागरण संजीवनी रुद्राक्ष को माध्यम बनाकर मेरे आभामंडल को इलेक्टि्रक वायलेट उर्जा का अभेद सुरक्षा कवच प्रदान करें। उस सुरक्षा कवच को एक और कवच में सुरक्षित करें. सुरक्षा कवच में मेरी खुशियों के लिये प्रेम व प्रकाश के आने जाने की राह दें। इन सुरक्षा कवचों को को गुस्सा, तनाव, तंत्र, ग्रह, वास्तु, प्रेत बाधा सहित किसी भी तरह की नकारात्मक उर्जायें भेद न सकें। और मुझ पर उनका कोई दुष्प्रभाव न पड़े। मै सुरक्षा कवच में सुखी और सुरक्षित रहूं। ऐसा ही हो, ऐसा ही हो, ऐसा ही हो-तथास्तु। आपका धन्यवाद, भगवान शिव का धन्यवाद, संजीवनी रुद्राक्ष का धन्यवाद, एनर्जी गुरु राकेश आचार्या जी का धन्यवाद।
%d bloggers like this: