Category Archives: shiv sadhak

ज्योतिष संजीवनी वर्कशॉप 20 जून 2021

ज्योतिष संजीवनी वर्कशॉप 20 जून 2021
1pm से 4pm
नया बैच: सिलेबस जारी
आप भी सीखें अलौकिक विद्या

सभी साधकों को राम राम।
ज्योतिष संजीवनी विद्या सीखने वाले कुछ पुराने साधकों ने मांग की है कि उन्हें नये सिरे से इस अमूल्य विद्या को सीखने का अवसर दिया जाए। क्योंकि पहले की कुछ क्लासेज उनकी नेटवर्क आदि के कारण छूट गईं।
इसलिये गुरु जी ने नये बैच के साथ पुराने बैच को मर्ज कर दिया है।
जो भी पुराने साधक नये सिरे से सीखना चाहते हैं वे 20 जून से शुरू हो रहे नए बैच की वर्कशॉप में शामिल हो सकते हैं।
लिंक और पासवर्ड कल भेजा जाएगा।


वर्कशॉप की अवधि
8 संडे, 8 वर्कशॉप

वर्कशॉप का समय
1pm to 4pm

कोर्स का सिलेबस:

  1. महाशक्ति के द्वारा तंत्र से बचाव
  2. बिना तोड़फोड़ वास्तु का उपचार
  3. कुंडली में नकारात्मक ऊर्जाओं का पता लगाना और जन्म से बिगड़े ग्रहों का उपचार
  4. अपने व दूसरों के उर्जा चक्रों से बात करके समस्या के कारण जानने की तकनीक
  5. सिद्धियों के लिये अपनी शक्तियों का जागरण
  6. सम्मानजनक स्वालंबन के लिये प्रोफेसनल टिप्स

  1. पहला चरण-
    विषय परिचय,
    तंत्र से बचाव के लिये चक्रों में प्रवेश करके वहां प्रत्यंगिरा की महा शक्तियों की स्थापना
  2. दूसरा चरण-
    वास्तु दोष से बचाव के लिये
    ब्रह्म स्थान में उर्जा कुंड की स्थापना।
    वास्तु महादोष निवारण हेतु सभी दिशाओं में उर्जा के खिड़की दरवाजों का निर्माण।
  3. तीसरा चरण-
    ग्रह दोष का उपचार
    कुंडली में ग्रहों को देखना
    कुंडली में नकारात्मकता का पता लगाना।
    उसे उपचारित करना।
    जन्म से बिगड़े ग्रहों की ऊर्जाओं को कुंडली के खानों (भाव) में रिप्लेस करके उनके प्रभाव बदलना।
  4. विशेष विषय-
    विभिन्न समस्याओं से निराकरण हेतु अपने व दूसरों के उर्जा चक्रों से बात करने की तकनीक।
  5. पांचवा चरण-
    सिद्धियां पाने के लिये अपनी शक्तियों का जागरण।
  6. अंतिम चरण-
    स्वावलंबन के लिये प्रोफेसनल टिप्स-
    ज्योतिष संजीवनी विद्या का उद्देश्य अपने साथ दूसरों के भी जीवन से समस्याओं को सटीक तरीके से हटाना है।
    पाया गया है कि जो लोग इसका प्रोफेसनल उपयोग करते हैं उनमें अधिक समर्पण दिखता है।
    इसलिये सक्षम साधक किस तरह से अधिक से अधिक लोगों तक अपना ज्ञान पहुंचाएं। उनको इस विद्या का लाभ पहुंचाकर खुद भी स्वालंबन और सम्मान झलक जीवन यापन प्राप्त करें।
    कोर्स के अंतिम चरण में इसके खास टिप्स बताए जाएंगे।