Category Archives: shiv sadhak

कुंडली आरोहण साधना

kundali jagran.jpg

*कुंडली आरोहण साधना*
27 जनवरी दिल्ली आश्रम

सभी को राम राम
कुंडली व्यक्ति को देवताओं की तरह सक्षम बना देने वाली शक्ति है. यह एक बड़ी सच्चाई है कि कुंडली की सक्रियता के बिना सफलतायें अधूरी रहती हैं. 
ध्यान में रखना चाहिये कि सिर्फ कुंडली जागरण ही पर्याप्त नही होता. कुंडली तो पूर्व जन्मों से आई उर्जाओं के कारण भी जाग्रत हो जाती है. मगर उसके परिणाम तभी मिलते हैं जब कुंडली सक्रिय होकर ऊपर बढ़ती रहे. इसलिये कुंडली का आरोहण अनिवार्य है.
*कुंडली आरोहण* का मतलब है उसका ऊपर की तरफ बढ़ते हुए उर्जा चक्रों की उर्जाओं का उपयोग करना.
दिल्ली आश्रम में 27 जनवरी को शिव दीक्षा और कुंडली आरोहण साधना होने जा रही है. गुरूजी शक्तिपात करके कुंडली को आरोहित करेंगे.
कुंडली जागरण साधना में आप सभी शामिल हो सकते है. शामिल होने के लिए अपना रजिस्ट्रेशन तुरंत करा लें.
कुंडली आरोहण साधना में शिव ज्ञान रुद्राक्ष अनिवार्य है.
*शिव ज्ञान रुद्राक्ष*
शिव ज्ञान रुद्राक्ष बहुत ही दिव्य रुद्राक्ष है. 7,8,9,10,11,12,13,14 मुखी रुद्राक्ष में भगवान शिव की ऊर्जाओ से जुड़ने की खास क्षमता होती है. शिव ज्ञान रुद्राक्ष को रुद्राभिषेक, शिव सहस्त्रनाम अनुष्ठान, नवग्रहों के मंत्र जाप और संजीवनी मंत्र द्वारा यज्ञ करके सिद्ध किया जाता है. सिद्ध होने के बाद रुद्राक्ष की प्रोग्रामिंग करके उसे साधक के आभामंडल और ऊर्जा चक्रों के साथ जोड़ दिया जाता है. शिव ज्ञान रुद्राक्ष साधक के भीतर शिव ज्ञान का जागरण करता है.
शिव ज्ञान रुद्राक्ष भगवान शिव से संपर्क स्थापित करने, देवदूतों की नियुक्ति करने. शिव गुरु से बातें करने के काम मे आता हैं. जिन साधकों की कुंडली जागृत होती है उनके लिए देवदूतों की नियुक्ति आसान हो जाती है.

हेल्पलाइन:- 9999945010 (Only Whatsapp)

सबका जीवन सुखी हो यही हमारी कामना है
शिव शरणं

%d bloggers like this: