टोटके और उर्जा विज्ञान- 5

मछलियों को खाना खिलाने से मिल जाते हैं रोजगार के अवसर….

images (6).jpg

एनर्जी गुरु राकेश आचार्याजी ने टोने टोटकों पर 9 साल से अधिक रिसर्च की. उन्होंने पाया कि हजारों साल से दैनिक जीवन का हिस्सा बने टोने टोटके रूढ़िवादिता नहीं बल्कि हमारी एनर्जी को साफ व संतुलित करने का सटीक विज्ञान हैं. घरेलू होने के कारण इनका उपयोग सरल और खर्च न के बराबर होता है. यदि इन्हें तय मानकों के अनुसार अपनाया जाये तो नतीजे बहुत ही सकारात्क निकलते हैं.

गड़बड़ तब हुई जब ये विज्ञान के विषय से अंजान लोगों के हाथों में चले गये. उन्होंने टोटकों की विधियों में तोड़ मरोड़ करके उन्हें पाखंड की भेट चढ़ा दिया. और टोने टोटके बदनाम हो गये. हम वैज्ञानिक विवेचना के साथ लाभकारी टोटकों को ग्रुप में पेस कर रहे हैं. ताकि हमारे साथी उनका लाभ उठा सकें. ध्यान रखें टोटकों का उपयोग सिर्फ उर्जा शोधन के लिये करेंगे. ध्यान रखें कि करने की विधि में मिलावट न करें. तोड़ मरोड़ कर किये जाने वाले टोटके नुकसान भी करते हैं. ध्यान रखें टोटकों के उपाय करने के साथ अपने कामकाज पर फोकस बनाये रखें.

राम राम मै शिवप्रिया.

1. रोजगार के लिये…

तीन सौ ग्राम काले उड़द का आटा लेकर, बिना छाने इसको गूंधकर खमीर उठा लें। फिर इसकी एक रोटी तैयार करके मामूली-सी आंच पर सेंक लें। ताकि आसानी से इसकी गोलियां बन सकें।

इस रोटी मे से एक चैथाई भाग तोड़कर काले रंग के कपड़े में बांध लें। बाकी पौन रोटी की 101 छोटी-छोटी गोलियां बनाकर, किसी ऐसे जलाशय के पास जायें, जिसमें मछलियां हों। पानी में एक-एक कर गोली डालें और सारी गोलियां मछलियों को खिला दें। अब कपड़े में बंधी रोटी को मछलियों को दिखाते हुए एक साथ पानी में प्रवाहित कर दें। इस प्रकार 40 दिनों तक नियमित रूप से यह क्रिया करें। इससे बेरोजगारी अवश्य दूर होगी। कोई नौकरी, रोजगार की व्यवस्था जरूर हो जाएगी।

गुरुदेव ने अपनी रिसर्च में पाया कि इस टोटके से आभामंडल की आंतरिक परतें साफ हो जाती हैं. जिससे रुकावटें हटती हैं. साथ ही आकस्मिक परेशानियों से बचाव होता है. इसके साथ ही मूलाधार व आज्ञा चक्र की भी सफाई होती है. जो कि रोजगार प्राप्ति में अहम भूमिका निभाते हैं. अनमनेपन व आलस्य को दूर करते हैं. समृद्धि को बढ़ाते हैं.

2. नींद के लिये…..

अगर नींद न आती हो, तो निम्न मंत्र का पाठ अवष्य करें। बिस्तर पर लेटने के बाद शरीर को एकदम ढीला छोड़ दें। फिर 108 से 0 तक उलटी गिनती गिनें. उसके बाद मन ही मन में आगे लिखे मंत्र का जाप करें. * कुंभकर्णाय नमः*. नींद आ जाएगी. गुरु जी ने अपनी रिसर्च में पाया कि इससे अवचेतन मन चेतन मन को शिथिल करके जाप करने नाले को सुला देता है.

हर हर महादेव

शिव गुरु को प्रणाम

गुरुदेव को प्रणाम

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s