गायत्री मंत्र जाप करने वाली महिला की उद्दंडता का नमूना

19989685_1243537012423732_234124312555586802_nआगे एक कमेंट में नाम आया तो हम बताते चलें कि गायत्री परिवार के संस्थापक आचार्य श्रीराम शर्माजी युग पुरुष थे. उनके विचार और ज्ञान सामाजिक क्रांति में सक्षम थे. उन पर एक दो नही दर्जनों शोध किये जा सकते हैं. उनकी योजनाएं आज भी प्रपंच- पाखण्ड को हराने में सक्षम हैं. वे अध्यात्म के विज्ञान को बारीकी से समझते थे, फिर भी उन्होंने महिलाओं को गायत्री मंत्र जाप के लिये प्रेरित किया. जो आगामी पीढ़ियों के लिये चिंता का सबब बनता नजर आ रहा है. इसके पीछे के रहस्य पर हम आगे चर्चा जरूर करेंगे.
फिलहाल हम उन्हें नमन करते हुए बात आगे बढाते हैं।
… टीम मृत्युंजय योग

कामाक्षी शर्मा की राय…
Bakwas h yh, ladies k liye b benificial hi h gyatri mantra.
ऊपर कामाक्षी शर्मा नाम की महिला द्वारा किया गया कमेंट है.
चर्चा का विषय था ‘क्या गायत्री मंत्र जाप से महिलाओं को नुकसान होता है, वे बात बर्दास्त नही कर पातीं, ज्यादा बीमारियों की शिकार होती हैं।’
ऊपर का कमेंट नमूना है इस बात का कि गायत्री मंत्र का जाप करने वाली अधिकांश महिलाएं खुद पर कंट्रोल नही रख पातीं, यहां तक कि शास्त्रार्थ जैसे विषयों पर भी अपना आपा खो देती हैं और उद्दंड भाषा का उपयोग करने से खुद को नही रोक पातीं.
जो महिलाएं गायत्री मंत्र का नियमित जाप करती हैं, उनके पतियों से व्यक्तिगत राय लेने पर चिंता में डालने वाले तथ्य सामने आते हैं.

आगे बढ़ने से पहले हम स्पस्ट हो जाएं कि महिलाओं को गायत्री मंत्र जपने का अधिकार है या नहीं हम इस पर चर्चा नही कर रहे हैं। हमारा विषय ये भी नही है कि उन्हें इससे लाभ होता है या नही।
हम बात कर रहे हैं गायत्री मंत्र के जाप से महिलाओं और उनके परिवारीजनों को होने वाले नुकसान की।

हमें हर पल याद रखना होगा कि गायत्री मंत्र महामन्त्र है, इसकी विशालता की चर्चा करने बैठें तो सदियां खर्च हो जाएंगी।
यहां हम उसकी ऊर्जाओं की प्रचण्डता से होने वाले नुकसान की बात कर रहे हैं। जितनी अधिक ऊर्जा, उतनी अधिक सतर्कता की जरूरत।
ठीक वैसे ही जैसे परमाणु विखण्डन से प्राप्त ऊर्जाओं में। उपयोग किया तो अंतरिक्ष तक पहुंच जाते हैं, चूक हुई तो दुनिया के नक़्शे से पूरे के पूरे देश गायब हो जाएंगे।
एक बात और ध्यान में रखते चलें कि गायत्री मंत्र के देवता सविता सूर्य हैं. गायत्री माता नही. इसलिये गायत्री मां की उपासना अलग बात है और गायत्री मंत्र की साधना अलग।
गायत्री मां की उपासना से महिलाओं को कोई नुकसान नही होता। गायत्री चालीसा या दूसरे मन्त्र आदि अपनाकर वे वेद माता गायत्री की सिद्धि कर सकती हैं।

गायत्री मंत्र की ऊर्जाओं में अग्नितत्व की अधिकता होती है, जो निम्न भावनाओं के केंद्र मणिपुर चक्र को उकसाता है,गैर जरूरी स्तर तक बढ़ा अग्नितत्व महिलाओं की प्राकृतिक संरचना को असन्तुलित करता है, मन की कोमलता को भंग करता है. उनमें धैर्य के विशाल प्राकृतिक गुण को जला देता है।
धैर्य ही वो गुण है जो मां होने के नाते महिलाओं को दुनिया के सर्वाधिक सम्मान का अधिकारी बनाता है। उसके बिगड़ते ही वे बेरुखाई या डिप्रेशन का शिकार हो जाती हैं।
बात बात में आपा खो देती हैं।
यदि माताएं अपना आपा खो बैठे तो आने वाली पीढ़ियों की कल्पना डरावनी होगी।
जरूरत से ज्यादा बढा अग्नितत्व तन के जलतत्व को भी असंतुलित कर देता है। जल तत्व के प्रतिनिधि सेक्स चक्र अर्थात स्वाधिष्ठान चक्र में कई तरह की अशुद्धियां पैदा होती।
जो यूट्रेस, ओबरी को क्षतिग्रस्त करती हैं। कमर,पैर, पीठ के रोग का कारण बनती हैं।
तपा हुआ स्वभाव प्रायः bp और सुगर का कारण बनता है।
इस बारे में हम अभी अपना मत नही दे रहे हैं, विषय पर साधकों से उनके विचार और अनुभव आमन्त्रित किये थे, उनमें से कुछ खास विचार यहां रख रहे हैं।
एक माता का कमेंट तो आपने ऊपर देख ही लिया।
आगे…
Vidya arjun की राय…
गायत्री मंत्र के प्रभाव से समान्यत: स्त्री मेँ स्त्रीत्व के बजाय पुरुषत्व बढने लगता है । पुरुषो जैसे गुण उनमेँ बढने लगते हैँ , अंत:स्रावी और बाह्यस्रावी ग्रंथियोँ मेँ गड़बड़ी पैदा होने लगती है।

अनुज दीक्षित की राय…
जो भी बोला गुरू जी ने मैंनें TV पे सुना कल 13/7/2017….!!!
मैं तो जपता नही हूँ इसको लेकिन मेरे पिता जी नियमित रूप से जपते हैं!! अपने पिता जी को देखकर मैं ये कह सकता हूँ कि जो गुरू जी ने बोला शत्-प्रतिशत सही है..!!!
महिलाओं के लिये भी जो बोला सही बोला। मगर आज के ज़माने में सच सुनना कौन चाहता है।

हेमलता सिंह की राय…
शिव गुरू को प्रणाम गुरु जी राम राम जो भी गुरू जी ने बताया है वह सभी सचहै मैंने भी देखा है क्योकि हमारे यहाँ शक्ति पीठ है गुरू जी सही तरीके से कैसे जपे इस पर भी रोशनी डालिये

अमित कुमार की राय…
Ram ram guruji
Gayatri mahavigyan (author-Sri Ram sharma acharya) pustak me bhahut sare aise pramaan diye gye hai jis se ye pramaanit ho jata hai ki shastro me aisa koi pratibandh nhi hai.anya vidwano ki bhi yahi rai hai.bhahut sari mahilao ne ye mantra japa hai or unhe koi haani nhi hui hai.kuch galat kha ho to kshama kr dena.maine bus apni rai rakhi hai.
Shiv guru ko naman

अनिता पांडे की राय…
Pranam. Gayatri mantra ki mahima ka jitna varnan kiya jaye wo kam hai. Gayatri mantra jap karne ke paschat surya ko ardhya dena jaruri hota hai. Gayatri mantra me savita devta se prarthana ki gayi hai – us pranswarup , dukhnashak , sukhswarup , shresth , papnashak tejasvi parmatma ko hum antar atma me dharan kare. Wah parmatma hamari budhi ko sanmarg ki or prerit kare.
Jo koi v gayatri japne ke bad kalah karti hai wo sirf gayatri japne ka dhong karti hai. Gayatri sadhna jab jeevan me utarti to sadhak ka pura kayakalp kar deti hai kyuki wo sabse pehle budhi ko thik karti hai. Atmik bhautik evam sharirik samast adi vyadhi ka nash kar deti hai.
Mere kamar ki haddi tut gayi thi evam uterus me tumor tha. Hamari ilaj ki samarthya nahi thi. Gayatri mantra jap ke sath masparayan sadhna ne mujhe sabhi bimariyo se mukt kar diya.
Mere sath hi rehne wale kitni mahilaye hai jinko gayatri jap evam sadhna se kai vibhutiyo se bhar diya. Hum logo ne gayatri sadhna se talak tak pahuche logo ko jeevan me khushali lautayi hai. Gayatri sadaiv jodti hai todti nahi. Gayatri mata hai evam mata ka apni putriyo par vishesh sneh hota hai . Mata kabhi apne bachcho ka ahit nahi kar sakti.
Ab dosh swayam ke andar ho aur uska dosh kisi aur par dale ye aur bat hai.
Jai gayatri mata.
Jai gayatri mata.

विषय की संवेदनशीलता से हम वाकिफ हैं। इसलिये हमारा आग्रह है कि दूसरे सुधी साधक भी इस बारे में अपने अनुभव लिखें।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s