मूलाधार चक्र

धन, रोजगार, कांफीडेंस का केंद्र का केंद्र मूलाधार चक्र भौतिक जीवन का आधार है.  यह ठीक रहे तो व्यक्ति कभी बेरोजगार नही रहता. कामकाज में कभी नुकसान नही होता. धन की कमी नही होती. कर्ज की पीड़ा नही सताती.  कांफीडेस कभी कम नही होता.1


इस चक्र के बिगड़ने पर बेरोजगारी, घाटा-नुकसान, कर्ज, निराशा, आत्महत्या की प्रवृति, आलस्य, शक्ति की कमी,  खून व हड्डियों के रोग, मांस पेशियों के रोग,  स्किन डिसीज, बाल झड़ने सहित कई तरह की गम्भीर परेशानियां पैदा होती हैं.

यदि आपको चक्र ठीक करने नही आते तो इसे ठीक रखने के लिये एनर्जी रिपोर्ट या मन्त्र संजीवनी उपचार का सहारा ले सकते हैं. घर बैठे एनर्जी रिपोर्ट बनवाने या मन्त्र संजीवनी उपचार सेवा प्राप्त के लिये आगे दिये नम्बर पर सम्पर्क कर सकते हैं. या नीचे दिया form भरकर हमें अपना आग्रह भेज सकते हैं। मन्त्र संजीवनी से आप दूसरों के भी आभामंडल और ऊर्जा चक्रों को ठीक कर सकते हैं। इसे सीखने के लिये भी हमसे संपर्क  कर सकते हैं।  हेल्पलाइन नं.- 9289500800 

%d bloggers like this: