Latest News

अलौकिक साधना, 16 अप्रैल 16

दिल्ली आश्रम में कल शिवप्रिया जी ने अलौकिक साधना करायी. साधना में शामिल साधिका उषा जी ने साधना के कुछ समय बाद ही अपने अनुभव शेयर किये हैं. उनके अनुभव उनके ही शब्दों में प्रस्तुत हैं. पढ़ें और अपनी राय दे.

🌺🙏हर हर महादेव🙏🌺
🙏कोटि कोटि नमन गुरुदेव🙏
राम राम 🙏
ये सभी फोटो ग्राफ शिव प्रिया जी द्वारा कराई गई आज कि अलौकिक साधना के है ,
सभी साधको की जिज्ञासा पूर्ण हुई ,और जिन लोगों ने सही तरीके से ,फार्म भरकर समय अवधि के अन्दर सम्मिट किये थे , उन्हें ‘शिव प्रिया’ जी ने आज की साधना अनुपम भेंट के रूप में सह्दय प्रदान करी ।
इसी साधना का अनुभव मैं आप सब के साथ शेयर कर रही हूँ ,
पहले तो शिव प्रिया जी ने सब लोगों से पूछा कि लाल ब्लू, परपल इन तीनों में से कौन से कलर के कपडे पहने और क्या अनुभव हुए ,सबने अपने अपने अनुभव सुनाये , सबके अनुभव अलग अलग थे , किसी का लाल कलर वाला दिन बहुत अच्छा गया ,किसी का परपल किसी का ब्लू वाला दिन अच्छा गया ,
सभी के अनुभव शिव प्रिया जी ने मनमोहक स्माइल के साथ इत्मिनान से सुने , गुरुदेव की तरह.
सबको अनुभव सुनाने का पूरा पूरा मौका दिया ,फिर वैज्ञानिक तरीके से कलर का नेचर , बनावट प्रभाव व उनकी एनरजी तथा हर व्यक्ति पर क्यूँ अलग अलग प्रभाव पड़ता एक ही कलर का ,कौन सा कलर कब पहनना चाहिए ,केसे अपने कामों को सफल करे कलर के द्वारा ,क्यूँ , केसे, कब . सारी बातें वैज्ञानिक तरीके से एनरजी कि भाषा में समझाई साथ में उसका आध्यात्मिक पक्ष भी समझाया ।
उस समय मुझे तो एेसा लग रहा था कि सतयुग के गुरूकुल कि कोई रिषी कन्या हमे समझा रही हो ,
सारे भ्रम दूर हुये , सच्चा वैज्ञानिक ज्ञान प्राप्त हुआ ।
अब अलौकिक साधना की घड़ी आई. 
शिव प्रिया जी ने सबको नेत्र बंद करके बैठने को कहा ,
थोड़ी देर में ही एनरजी का फोर्स थर्ड आई व आज्ञा चक्र पर महसूस होने लगा , किसी को भारीपन लगा किसी को दर्द हुआ . १५ मिनट मे हम सबकी आँखें खुली , कुछ अलग ही अनुभूति हो रही थी ,
फिर शिव प्रिया जी ने बताया कि सबकी थर्ड आई एक्टीवेट हो चुकी हैं ।
इसके बाद ब्लू बोडी टेकनिक द्वारा दूसरे के शरीर में कहाँ प्राबलम है ये पता लगाना व उसका उपचार करना सिखाया।
सब लोगों को चेक कराया और चेक करने का तरीका भी दिखाया वो मैं यहाँ नहीं बता पाऊंगी , हाँ सबने चेक किया एक दूसरे की इनर बोडी मे कहाँ कहाँ किस किस चक्र में क्या ठीक है क्या ठीक नहीं है, और उसे केसे ठीक किया जाए ।
तीसरी सिद्धि कराई सच और झूठ को पकड़ने की कराई. वो भी प्रेक्टिकल उदाहरण के साथ.
केसे वो शब्दों में यहाँ नहीं बता पाऊंगी ,
लेकिन हाँ सबको लाइव डिक्टेटर बनने के सभी गुर सिखाये ,
और ये अब प्रेक्टिस का विषय हो गया है हम सबके लिये , जो जितनी प्रेक्टिस करेगा , उतना सफल होगा सच झूठ का व मन कि बातें जानने में ।
इस तरह आज की साधना में तीन सिद्धीया प्राप्त हुई सबको , सब बहुत आनंदित हुये , गौरवान्वित हुए ,
शिव प्रिया जी को अनेकानेक धन्यवाद दिया 🙏🙏सभी साधको ने ।
🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺🌺
गुरुदेव को साष्टागं दडंवत🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🙏🌷🌷🌷🌷🌷🌷🌷
अरुण जी को बहुत बहुत धन्यवाद सभी कि और से 🙏🙏 🌺🌺🌺
ऐसे ही साधनाओ का लाभ सबको दिलाते रहे सबको🙏
धन्यवाद 🙏
साधना समिति
उषा बिरथरे 🙏