महा संकट मोचन अनुष्ठान

प्रणाम मै शिवांशु

कल हनुमान जंयती के अवसर पर दिल्ली आश्रम में महा संकट मोचन अनुष्ठान होगा. इसके लिये गुरुदेव आज रात लखनऊ से दिल्ली पहुंच रहे हैं. वे कल संकट मोचन अनुष्ठान का जनहितकारी संकल्प सम्पन्न करेंगे. कल का अनुष्ठान भगवान शिव में आस्था और गुरुवर में विश्वास रखने वाले हनुमान भक्तों को अगले एक साल तक संकटों से बचायेगा. जो लोग दिल्ली अाश्रम पहुंचकर इसमें शामिल होंगे उनके लिये ये अनुष्ठान बहुत ही कल्याणकारी साबित होने वाला है. वे अपने व दूसरों के लिये भी हनुमान जी की शक्तिशाली उर्जायें अर्जित करेंगे.
महासंकट मोचन अनुष्ठान वाकई संकटों से उबरने का अत्यंत प्रभावशाली तरीका है. इसमें हनुमान जी के संकट मोचक स्वरूप की उर्जाओं का आवाह्न करके उन्हें अपने आभामंडल और उर्जा चक्रों में व्याप्त कर लिया जाता है. साथ ही साधक के सिल्वर काड लिंक का संयोजन संकट मोचन हनुमान जी की उर्जाओं के साथ कर दिया जाता है. जिससे संकट मोचन की उर्जाएं लगातार साल भर तक मिलती रहती हैं. इस नजरिये से ज्येष्ठ माह की हनुमान जयंती विशेष महत्वपूर्ण है. आप सभी इसका लाभ उठायें. कल के अनुष्ठान में शामिल सभी साधकों की उर्जाओंं का गुरुदेव एेसा ही संयोजन करेंगे.
दिल्ली आश्रम में अनुष्ठान सुबह 8 बजे शुरू हो जाएगा. अपराह्न 4 बजे तक चलेगा. इस बीच हनुमान चालीसा का उर्जा संकल्पित पाठ लगातार चलेगा. 4 बजे के बाद हनुमान जी, शिव जी, लक्ष्मी जी, कुबेर जी को अामंत्रित करके राम राम संकीर्तन सुनाया जाएगा.

जो साधक संकट मोचन अनुष्ठान के लिये दिल्ली आश्रम पहुंच रहे हैं, वे प्रसाद वितरण के लिये जो कुछ भी लाना चाहें ला सकते हैं. साथ में लाल पुष्प जरूर लायें.
जो साधक अपने स्थान में रहकर संकट मोचन अनुष्ठान में शामिल होना चाहते हैं. वे सुबह 8 बजे महा संकट मोचन अनुष्ठान में शामिल होने का संकल्प ले लें. संकल्प नीचे लिखा है.
स्नान आदि करके आराम से बैठ जायें. फिर संकल्प लें. कहें हे शिव आप मेरे गुरु हैं मै आपका शिष्य हूं मुझ शिष्य पर दया करें. आपको साक्षी बनाकर उर्जा नायक श्री राकेश आचार्या जी द्वारा कराये जा रहे महासंकट मोचन अनुष्ठान में शामिल हो रहा हूं. इसमें मै 11 बार हनुमान चालीसा का पाठ करुंगा. बाद में गुरु दक्षिणा के रुप में आपको राम राम सुनाउंगा. साथ ही किन्ही 4 जरूरत मंदों को भोजन दान करुंगा. मेरे द्वारा किया जा रहा अनुष्ठान संकट मोचन स्वरूप में स्वीकार करें और साकार करें.
इसके बाद हनुमान चालीसा का शाम चार बजे से पहले पहले 11 बार पाठ कर लें. पाठ पूरे हो जाने के बाद कम से कम 5 मिनट तक शिव गुरु को राम नाम सुनायें. उसके बाद भगवान शिव को, संकट मोचन हनुमान जी को और उर्जा नायक एनर्जी गुरु राकेश आचार्या जी को धन्यवाद दें. फिर 4 गरीबों को भोजन दान करें. दान देते समय मन ही मन में उन्हें भी धन्यवाद दें. फिर एक साल तक हर महीने 4 लोगों को भोजन दान करते रहें. इस दान में वे लोग शामिल न हों जो अक्सर आपके घर के भीतर आते जाते हों.
अधिक जानकारी के लिये 9999945010 पर अरुण जी से call या whatsapp पर सम्पर्क कर लें.
जय श्री हनुमान.
शिव गुरु को प्रणाम
गुरुवर को नमन

आपका जीवन सुखी हो, यही हमारी कामना है।

One response

  1. Solankihitendra | Reply

    Hanuman Jaynti par 4 logo ko bhojan kya de??? Jab ki mai hi parivar ko bhojan nahi de shakta!!! Mrityunjay officeme phon pe hamari puri bat sunta hi nahi hai. 1sal se!!!!!!

    Like

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: