Terms & Conditions

आपकी संतुष्टि हमारा उद्देश्य है, आपका विश्वास हमारी पूजी है.


समस्या समाधान के नियमों को ठीक से पढ़ें, समझें फिर अपनायें

    1. मनोभाव इंशानी उर्जा को परिलक्षित करते हैं.
    2. साथ ही मनोभाव लोगों की उर्जाओं को बनाते-बिगाड़ते भी हैं.
    3. आनलाइन एनर्जी चेकअप की प्रक्रिया मनोविज्ञान के तहत मनोभावों के आधार पर अपनायी जा रही है. शास्त्रकाल से चली आ रही ये पद्धति प्रायः हर काल में अचूक साबित हुई है.
    4. उसी आधार पर आभामंडल, उर्जा चक्रों को उपचारित करने के सुझाव दिये जा रहे हैं.
    5. हम समाधान के लिये यज्ञ, अनुष्ठान, रुद्राभिषेक व अन्य अध्यातिमक उर्जा उपचार करते या कराते हैं.
    6. हमारे उपायों को आप उपचार के नियमों के तहत ही स्वीकारें, पूर्ण संतुष्टि के बाद ही उर्जा उपचार/उपाय आरम्भ करने की सहमति दें.
    7. उर्जा उपचार में सूक्ष्म शरीर और मन की भावनाओं को उपचारित किया जाता है.
    8. जब तक आपको हमारी पद्धति पर विश्वास न हो जाये, तब तक हमारे समाधान न अपनायें.
    9. विश्वास आपको खुले दिमाग से कायम करना चाहिये. अतः सभी बातों को अच्छी तरह जानें और समझें.
    10. हमारे सहयोगियों द्वारा दी गई जानकारी का विश्लेषण करना और उन्हें अपनाना आपके निजी निर्णय का विषय है. इसमें हमारा कोई दबाव न अपनायें.
    11. उपचार गारंटी की सीमा से बाहर का विषय होता है. जिस तरह एक दवा से रोग ठीक न होने पर चिकित्सक दूसरी दवा, फिर तीसरी दवा बदलते हैं. उसी तरह कई बार उर्जा उपचार के उपाय बदलने की जरूरत होती है. किसी भी उपचार के शत प्रतिशत परिणामों की गारंटी नही ली जा सकती.
    12. उसी तरह उपायों के परिणामों की भी शत प्रतिशत गारंटी नही होती. एेसी गारंटी लेना हमारी परम्परा नही है.
    13. जिस तरह शरीर के रोगों के उपचार में कई बार अनुमानित से अधिक समय लग जाता है. उसी तरह उर्जा उपचार में भी कुछ मामलों में अनुमानित समय से अधिक समय लग जाता है.
    14. कोई इलाज स्थाई या जीवन भर के लिये नही होता. जिस तरह एक बार दवाओं से ठीक होने के बाद भी कई बार पुनः बीमार होने का अंदेशा होता है. उसी प्रकार उर्जा उपचार में भी एक बार लाभ के बाद पुनः वैसी ही परेशानी से इंकार नही किया जा सकता.
    15. दूसरों के लिये बतायें उपायों को अपने पर न अपनायें.
    16. हम किसी सुपर पावर का दावा नही करते. उर्जा, आभामंडल, योग, प्रार्थनायें और वेदकाल से अपनायी जा रहे संजीवनी तकनीक का विज्ञान हमारे उपचार का माध्यम है.
    17. किसी भी तरह का अंशदान देने से पहले सभी बातें ठीक से समझकर तसल्ली कर लें. जब तक मन में कोई संसय हो तब तक हमें किसी तरह का अंशदान न दें. अंशदान के बाद यदि किसी वजह से हमारी सेवाओं को लेकर आपको तस्सली नहीं हो पा रही है तो अंशदान देने के 30 दिन के भीतर उसके रिफंड की मांग कर सकते है. अपना अंशदान सिर्फ मृत्युंजय योग फाउंडेशन के अकाउंट में ही भेजें.
    18. किसी भी तरह का सुझाव या शिकायत 9999945010 या shivshiv1008@gmail.com पर दें.

आपका जीवन सुखी हो, यही हमारी कामना है.


Note:-

हमारी संस्था अंशदान से चलती है, इसलिए हम भी लोगों से पैसे लेते है.

%d bloggers like this: