Online Registration

12लक्ष्मी महासाधनाः  जिन्हें लगता है लक्ष्मी उनसे रूठी हैं. जो पीढ़ियों से धन की कमी से गुजर रहे हैं. जिनके भाग्य में धन ही नही दिखता. बहुत कमाने के बाद भी जो कर्ज के तनाव में रहते हैं. उन्हें लक्ष्मी महासाधना जरूर करनी चाहिये. 

साधना की सामग्री- लक्ष्मी गुटिका, पीताम्बरी.लाल आसन.
साधना का मंत्र- ऊं. ह्रीं श्रीं क्रीं अष्ट लक्ष्मी मम् गृहे धनम् पूरय पूरय क्रीं श्रीं ह्रीं ऊं. नमः
मंत्र जाप- 4 घंटे
साधना का मुहूर्त- सर्वाधिक शुभ दीपावली की रात। या कभी भी सौभाग्, शुभ, बृद्धि योग में। ध्यान रखे भद्रा में न करें.
गुरू जी द्वारा कराई जा रही आगामी लक्ष्मी महासाधना-
दीपावली पर गुरू जी का साधकों को विशेष उपहार. साधकों का लम्बा इंतजार खत्म हुआ. गुरू जी ने लक्ष्मी सिद्धि साधना की अनुमति दे दी है. हम साधकों के स्वागत की तैयारी में लग गये हैं. साधना 15 अक्टूबर 2017 को दिल्ली के हिंदी भवन में होगी. आने वाले साधक 20 सितम्बर से पहले अपना रजिस्ट्रेशन करा लें हैं. साधना का अवसर पहले आयें, पहले पायें पद्धति से ही मिल सकेगा.
लक्ष्मी महासाधना में पहले गुरु जी आने सभी साधकों के आभामंडल और उर्जा चक्रों को स्वयं ठीक करेंगे.
ध्यान रखें जब तक आभामंडल और उर्जा चक्रों की स्थिति अच्छी न हो तब तक साधना, पूजापाठ, उपाय फलित नही होते. तनाव, समस्याओं से घिरे लोगों का आभामंडल प्रायः दूषित और उर्जा चक्र अक्सर बीमार रहते हैं. एेसी दशा में की गई साधनायें फलित नही हो पातीं. इसीलिये गुरू जी शक्तिपात के द्वारा लक्ष्मी महासाधकों की उर्जा को पहले शोधित करके साधना के योग्य तैयार करेंगे. लक्ष्मी सिद्धि के दुर्लक्ष मंत्र को साधकों के रोम रोम में स्थापित करेंगे.
शास्त्रों के मुताबिक मंत्र साधक के रोम छिद्रों में स्थापित हो जाये तो सिद्धी सरल हो जाती है.
साधना शिविर में मंत्र सिद्धि कर लेने के बाद साधक दीपावली के दिन उसी मंत्र में माता लक्ष्मी स्थापित करेंगे. सिद्धों का कहना है कि दुर्लभ लक्ष्मी मंत्र को सिद्ध करके दीपावली पर लक्ष्मी का आवाह्न हो तो उन्हें आना ही होता है. जहां लक्ष्मी मां पहुंच जायें वहां क्या क्या बदलेगा ये कहने की आवश्यकता नहीं.
%d bloggers like this: