मंत्रों से भी विनाश:

मंत्रों से भी विनाश:
आप भी चेक करें, आपके मन्त्र लाभ कर रहे हैं या नुकसान

●यदि आपके जीवन में बार बार ऐसी परेशानियां हावी हो जाती हैं जिनके लिये आप बिल्कुल जिम्मेदार नही। जिनके कारण पता नही चल पाते। तो अपनी पूजा पाठ का तुरन्त अवलोकन करें। खासतौर से रोज जपे जा रहे मंत्रों का परीक्षण तत्काल करें।●
सभी साधकों को राम राम।
मन्त्र देव शक्ति से जुड़ने का सूक्ष्म उपकरण हैं। किसी भी उपकरण की तरह इनका भी गलत प्रयोग घातक ही होता है। बिजली के तारों में प्रवाहित अदृश्य करेंट का प्रयोग गड़बड़ा जाये तो विनाश का कारण बन सकता है। ऐसा तब होता है जब वोल्टेज का उतार चढ़ाव अधिक हो जाये। ऐसा तब भी हो सकता है जब तारों पर क्षमता से अधिक लोड बढ़ जाए।
इसी तरह मंत्रों से उत्पन्न अदृश्य आवेशित (सूक्ष्मतम विद्युत) उर्जा तरंगें गड़बड़ा जाएं तो जीवन में विनाश उत्पन्न हो जाता है। ऐसा तब होता है जब मन्त्र का उच्चारण गलत हो। तब उनसे उत्पन्न सूक्ष्म विद्युतीय उर्जा तरंगों में भारी उत्तर चढ़ाव हो जाता है। ऐसा तब भी हो सकता है जब मन्त्र का जरूरत से ज्यादा प्रयोग करके उससे उत्पन्न ऊर्जाओं का उर्जा चक्रों में अनावश्यक जमाव हो जाये। ऐसे में चक्र ओवरलोड होकर अति सक्रिय या अति शिथिल होकर असंतुलित हो जाते हैं। असंतुलित उर्जा चक्र हर तरह की परेशानी उत्पन्न करते हैं।
इसी कारण शास्त्रों में गुरु मन्त्र को छोड़कर शेष सभी मंत्रों की जप संख्या निर्धारित की गई है। गुरु द्वारा उनके जप का विधान सिखाया जाता है।
सही उच्चारण और निर्धारित संख्या में जपे गए मन्त्र लोगों को देव शक्तियों से जोड़कर उन्हें देवदूतों की तरह चमत्कारिक बनाने में सक्षम होते हैं। किंतु इनके प्रयोग में अनाड़ीपन व्यक्ति का जीवन बिगाड़ देता है।
कैसे जाने कि आप जो मन्त्र जप रहे हैं वह लाभ पहुंचा रहा है या नुकसान।
मन्त्र जप का लाभ हो तो लक्षण नीचे देखें●●●
मन शांत, रिश्तों में सुख, हर काम में सफलता, सम्मान में लगातार बढ़ोत्तरी, गैर जरूरी रुकावटें हटें, दान-पुण्य की इच्छा। अध्यात्म में दैवीय ज्ञान की प्राप्ति।
मन्त्र जप नुकसान दायी हो तो लक्षण नीचे देखें●●●
बेचैनी, अकारण अपमान, रिश्तों में टूटन, बार बार असफलता, अटकाव, भटकाव, अभाव, निराशा, कलह, बिखराव।
●●● सावधानी●●●
अपने गुरु द्वारा बताए विधान का अनुशरण करें।
गुरु न धारण किया हो तो अधिक मंत्रों का जप न करें। किसी एक मन्त्र का ही प्रयोग करें। जितने अधिक मंत्रों का जप होता है खतरे की आशंका उतनी ही अधिक होती है।
●●● मन्त्र से बड़ा वरदान कोई नही ●●●
मन्त्र एक बड़ा विज्ञान है। इसे निर्धारित विधान के साथ अपनाया जाए तो इंसान के लिये इससे बड़ा वरदान कोई नही।
यदि आपको भी लगता है कि आपके पूजा पाठ, मन्त्र जप किसी कारण बिगड़े हैं। फायदे की जगह उनका नुकसान मिल रहा है। तो अपने गुरु से व्यक्तिगत रूप से तुरन्त संपर्क करें। उन्हें पूरी बात बताएं। सफलता की राह मिल जाएगी।
अगर किसी कारण ऐसे में आपका गुरु से व्यक्तिगत संपर्क नही हो पा रहा है तो भी निराश न हों। हम आपका निःशुल्क सहयोग करेंगे। उसके लिये नीचे दिया फॉर्म भरकर सम्मिट करें। फॉर्म में दिए आपके नम्बर पर संपर्क करके हम जल्दी ही आपकी बात एनर्जी गुरु जी से कराएंगे। वे आपकी पूजा पाठ, जपे जा रहे मंत्रों की ऊर्जाओं की जांच करके उनका लाभ उठाने के सुझाव देंगे। साथ ही आपकी एनर्जी से किन मंत्रों की ऊर्जा मैच करती है। यह भी बताएंगे।
आपका जीवन सुखी हो,
यही हमारी कामना है।
●●● मन्त्र परीक्षण फॉर्म का लिंक नीचे क्लिक करें ●●●

https://docs.google.com/forms/d/e/1FAIpQLSeo6a5-kqqrNh3Mkbt54kF2LymemkPVkdHpaLcPLaTc7o82Pg/viewform?fbzx=-4523523297807136900

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s